Padbandh (Phrases) (पदबंध)

पदबंध - जब एक से अधिक पद मिलकर एक व्याकरणिक इकाई का काम करते हैं , तब उस बंधी हुई इकाई को पदबंध कहते हैं ! जैसे - सबसे तेज दौड़ने वाला घोड़ा जीत गया !



पदबंध के पाँच भेद होते हैं - 

1- संज्ञा पदबंध - जब एक से अधिक पद मिलकर संज्ञा का काम करें ,तो उस पदबंध को संज्ञा पदबंध कहते हैं ! संज्ञा पदबंध के शीर्ष में संज्ञा पद होता है , अन्य सभी पद उस पर आश्रित होते हैं ! जैसे - 

   दीवार के पीछे खड़ा पेड़ गिर गया ।

इस वाक्य में रेखांकित शब्द संज्ञा पदबंध हैं !

2- सर्वनाम पदबंध - जब एक से अधिक पद एक साथ जुड़कर सर्वनाम का कार्य करें तो उसे सर्वनाम पदबंध कहते  हैं ! इसके शीर्ष में सर्वनाम पद होता है ! जैसे -

    भाग्य की मारी तुम अब कहाँ जाओगी  ।
3- विशेषण पदबंध - जब एक से अधिक पद मिलकर किसी संज्ञा की विशेषता प्रकट करें , उन्हें विशेषण पदबंध  कहते हैं ! इसके शीर्ष में विशेषण होता है ! अन्य पद उस विशेषण पर आश्रित होते हैं ! इसमें प्रमुखतया प्रविशेषण लगता है ! जैसे - 

    मुझे चार किलो पिसी हुई लाल मिर्च ला दो ।

4- क्रिया पदबंध - जब एक से अधिक क्रिया पद मिलकर एक इकाई के रूप में क्रिया का कार्य संपन्न करते हैं , वे क्रिया पदबंध कहलाते हैं ! इस पदबंध के शीर्ष में क्रिया होती है ! 
    जैसे - 
             वह पढ़कर सो गया है


5- क्रियाविशेषण पदबंध - जो पदबंध क्रियाविशेषण के रूप में प्रयुक्त होते हैं , उन्हें क्रियाविशेषण पदबंध कहते हैं ! इसमें क्रियाविशेषण शीर्ष पर होता है और प्राय: प्रविशेषण आश्रित पद होते हैं ! जैसे - 

    मैं बहुत तेजी से दौड़कर गया ।

18 Comments

  1. 2morrow is my hindi exam and this is very helpful post.Thanks for providing this..

    ReplyDelete
  2. My grammar text book, doesnt give much information about padhbandh! This was extremely helpfulthnxxx

    ReplyDelete
    Replies
    1. ay man. can you help me answer this question:
      1)mandir me khada mein tumhara intezar kathe that.
      Which padhbandh should i put in this???

      Delete
  3. You guys present there are performing an excellent job.Grammarly reviews

    ReplyDelete
  4. Pad ke bad pad bandh aata hai kya

    ReplyDelete
  5. Pad ke bad pad bandh aata hai kya

    ReplyDelete
  6. बहुत अच्छी व्याख्या

    ReplyDelete
  7. haa pehle shabd aata h phir pad aur phir padbandh

    ReplyDelete

Post a comment

Previous Post Next Post