Vaachya (Voice) (वाच्य) - Hindi Grammar Online

Monday, 21 January 2013

Vaachya (Voice) (वाच्य)

वाच्य :- क्रिया के जिस रूपांतर से यह बोध हो कि क्रिया द्वारा किए गए विधान का केंद्र बिंदु कर्ता है , कर्म अथवा क्रिया -भाव , उसे वाच्य कहते हैं !




वाच्य के तीन भेद हैं - 

1- कर्तृवाच्य -  जिसमें कर्ता प्रधान हो उसे कर्तृवाच्य कहते हैं !

    कर्तृवाच्य में क्रिया के लिंग , वचन आदि कर्ता के समान होते हैं , जैसे - सीता गाना गाती है , इस वाच्य में सकर्मक और अकर्मक दोनों प्रकार की क्रियाओं का प्रयोग किया जाता है !
     कभी -कभी कर्ता के साथ  ' ने '  चिन्ह नहीं लगाया जाता !

2-  कर्मवाच्य -  जिस वाक्य में कर्म प्रधान होता है , उसे कर्मवाच्य कहते हैं !
    कर्मवाच्य में क्रिया के लिंग , वचन आदि कर्म के अनुसार होते हैं , जैसे - रमेश से पुस्तक लिखी जाती है ! इसमें केवल  ' सकर्मक ' क्रियाओं का प्रयोग होता है !

3-  भाववाच्य -  जिस वाक्य में भाव प्रधान होता है , उसे भाववाच्य कहते हैं !
     भाववाच्य में क्रिया की प्रधानता रहती है , इसमें क्रिया सदा एक वचन , पुल्लिंग और अन्य पुरुष में आती है ! इसका प्रयोग प्राय: निषेधार्थ में होता है , 
     जैसे - चला नहीं जाता , पीया नहीं जाता !

-  कर्तृवाच्य से कर्मवाच्य बनाना :-


          ( कर्तृवाच्य )                             ( कर्मवाच्य )

1-   रीमा चित्र बनाती है !               -  रीमा द्वारा चित्र बनाया जाता है !

2-   मैंने पत्र लिखा !                     -  मुझसे पत्र लिखा गया !

-  कर्तृवाच्य से भाववाच्य बनाना :-

          ( कर्तृवाच्य )                             ( भाववाच्य )

1-   मैं नहीं पढ़ता !                      -   मुझसे पढ़ा नहीं जाता !

2-   राम नहीं रोता है !                  -   राम से रोया नहीं जाता !

12 comments:

  1. These topics are reallly helpful.plz provide help to find out the sabad karam(squence of words)in sabad kosh.

    ReplyDelete
  2. These topics are reallly helpful.plz provide help to find out the sabad karam(squence of words)in sabad kosh.

    ReplyDelete
  3. This comment has been removed by the author.

    ReplyDelete
  4. This comment has been removed by the author.

    ReplyDelete
  5. बहुत ही उपयोगी जानकारी धन्यवाद!

    ReplyDelete
  6. बहुत अच्छी जानकारी है परिक्षापयोगी जानकारी है धन्यवाद श्रीमान

    ReplyDelete
  7. isme kya ham example 2 me (karthri se karm WACHYA)
    mujse patr likha gaya ko
    1. mere dwara patra likha gaya hai
    ya
    2 patra mere dwara likha gaya hai

    me pariwarthit kar sakte hai kya ???

    ReplyDelete
  8. Karm vachya ko bhav vachya m kese convert karte h..
    Pls btaeye

    ReplyDelete
  9. Karm vachya ko bhav vachya m kese convert karte h..
    Pls btaeye

    ReplyDelete
  10. Khabar sunkar wah chal bhi nahi pa rahi thi. Ko bhav vachya me badlo

    ReplyDelete

Post Bottom Ad